लालकुआं- संगीतमय श्रीमद भागवत कथा के प्रथम दिवस पर उमड़ी श्रोताओं की भारी भीड़, पढ़ें पूरी खबर सिर्फ उत्तराँचल न्यूज़ नेटवर्क पर

0
101
भागवत कथा का बखान करते मुख्य कथा व्यास डॉ पंकज मिश्र "मयंक"

लालकुआं। राधे-राधे सेवा समिति लालकुआं के तत्वाधान में 25 एकड़ रोड स्थित भोले मंदिर के समीप प्रारंभ हुई श्रीमद् भागवत कथा के प्रथम दिवस पर श्रद्धालुओं एवं श्रोताओं की भारी भीड़ देखने को मिली इस दौरान मुख्य कथा व्यास डॉ पंकज मिश्र “मयंक” ने श्रीमद् भागवत कथा प्रारंभ करते हुए भागवत महात्य व सती चरित्र पर विस्तार से प्रकाश डाला इस दौरान क्षेत्र के गणमान्य लोग भी मौजूद रहे।       


संगीतमय श्रीमद भागवत कथा के प्रथम दिवस पर पंडाल में उपस्थित श्रद्धालुगण एवं मुख्य यजमान कुलदीप मिश्रा व धर्मवीर मौर्य 

यहां आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के प्रथम दिवस पर मुख्य कथा व्यास डॉ पंकज मिश्र ने कथा का बखान करते हुए भागवत कथा सुनने और उससे व्यक्तिगत जीवन में होने वाले आध्यात्मिक लाभ के बारे में बताया इस दौरान उन्होंने सती चरित्र पर भी विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि थोड़ा झूठ बोलना सती को बहुत महंगा पड़ा इसलिए कभी अपने पति से कुछ नहीं छुपाना चाहिए जिससे कि पारिवारिक जीवन में कभी व्यवधान उत्पन्न ना हो सके। वहीं सहयोगी विद्वान आचार्य अखिलेश त्रिपाठी ने भी भागवत कथा के बारे में विस्तार से बताया। भागवत कथा के प्रथम दिवस पर सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु एवं श्रोतागण उपस्थित हुए जिसमें महिला श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखने को मिली। इधर क्षेत्र के गणमान्य लोगों ने भी भागवत कथा में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। मुख्य कथा व्यास डॉ पंकज मिश्र मयंक ने क्षेत्र की जनता से आह्वान किया कि कल दोपहर 12:00 बजे से कथा प्रारंभ होगी जिसमें उन्होंने अधिक से अधिक संख्या में श्रद्धालुओं से पहुंचने की अपील की। भागवत कथा के दौरान बीच बीच में कथा व्यास पंकज मिश्र द्वारा संगीतमय  भक्ति गानों की प्रस्तुति भी दी गई जिसमें श्रोतागण मग्न हो गए वहीं भागवत कथा में झांकियां भी आकर्षण का केंद्र रही।


संगीतमय श्रीमद भागवत कथा के अवसर पर कुछ इस तरह से सजाया गया पंडाल

इस दौरान मुख्य रूप से नगर पंचायत अध्यक्ष लालचंद सिंह, पूर्व अध्यक्ष रामबाबू मिश्रा, पवन चौहान, वरिष्ठ भाजपा नेता हेमंत नरूला, व्यापार मंडल अध्यक्ष दीवान सिंह बिष्ट, संजीव शर्मा, कुलदीप मिश्रा, धर्मवीर मौर्य, बीएन शर्मा, उमेश तिवारी, कोषाध्यक्ष जीवन कबड़वाल, भोलाराम, हरीश नैनवाल, शैलेंद्र कुमार सिंह, रोहित सिंह, गीता शर्मा, रजनी सिंह, अभिषेक कुमार सिंह, महेश कश्यप, शैलेन्द्र राठौड़, इष्टदेव मिश्रा, पंचमलाल कश्यप, रामस्वरूप विश्वकर्मा, अशोक पाठक, अमित मिश्रा, पुनीत मेलकानी, पुष्पेंद्र मिश्रा, पप्पू गौतम, मिंटू, विजय कश्यप, मंतोष बाला, जटाशंकर, दलीप सिंह सहित तमाम समिति के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।


भगवत कथा में मनमोहक झांकियों की प्रस्तुति देते कलाकार 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here